Annual Report

 केन्द्रीय विद्यालय कानपुर कैंट, कानपुर

वार्षिक प्रतिवेदन 2017

माननीय मुख्य अतिथि ब्रिगेडियर वी. एम. शर्मा (अध्यक्ष विद्यालय प्रबंध समिति एवं स्टेशन कमान अधिकारी कानपुर छावनी)

 

वी. एम. सी. के सम्मानित सदस्य गण

 

विभिन्न केंद्रीय विद्यालयों एवं अन्य संस्थाओं से आए हुए प्राचार्य गण

 

अतिथिगण, पत्रकारगण, एवं अभिभावक गण

 

आज हम सभी के लिए यह बड़े हर्ष का विषय है कि ब्रिगेडियर वी. एम. शर्मा अध्यक्ष विद्यालय प्रबंध समिति आज हमारे बीच मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हैं। ब्रिगेडियर वी. एम. शर्मा बच्चों के बहुमुखी विकास के लिए हमेशा कटिबद्ध रहते हैं। बच्चों के बीच रहकर आप हमेशा हर्ष का अनुभव करते हैं। महोदय हमारा पूरा विद्यालय परिवार आपका हार्दिक स्वागत करता है। 

 

अब मैं विभिन्न केंद्रीय विद्यालयों एवं अन्य संस्थाओं से पधारे प्राचार्यों, अतिथियों, अभिभावकों एवं पत्रकार भाइयों का स्वागत करता हूँ जिन्होंने अपना अमूल्य समय देकर हमारे प्रांगण को और सजीव बनाया एवं हमारे हौसले को बुलंदी प्रदान की।  

 

मुख्य अतिथि ब्रिगेडियर वी. एम. शर्मा स्टेशन कमांडर एवं अध्यक्ष विद्यालय प्रबंध समिति की अनुमति से अब मैं सत्र 2016 की विद्यालय की वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत कर रहा हूँ। इसके पहले मैं आप सभी को केंद्रीय विद्यालय संगठन के उद्देश्यों एवं विशेषताओं से परिचित करना चाहूँगा। 1962 में केंद्रीय विद्यालय ने 20 रेजिमेंटल विद्यालयों के साथ काम करना आरंभ किया। आज विदेशों सहित पूरे भारत में इनकी संख्या 1100 से ऊपर है। केंद्रीय विद्यालय संगठन के चार मुख्य उद्देश्य हैं-

 

·         केंद्रीय सरकार के स्थानांतरणीय कर्मचारियों एवं रक्षा तथा अर्धसैनिक बलों के  बच्चों को शिक्षा के सामान्य कार्यक्रम के तहत शिक्षा प्रदान कर उनकी शैक्षिक अवश्यकताओं को पूरा करना।

 

·         शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठता एवं गति निर्धारित करना।

 

·         सी. बी. एस. ई. एवं एन. सी. आर. टी. जैसे निकायों के सहयोग से शिक्षा के क्षेत्र में नए-नए प्रयोग तथा नवाचारों को सम्मिलित करना।

 

·         बच्चों में राष्ट्रीय एकता एवं भारतीयता की भवना  का विकास करना।

 

हमारे केन्द्रीय विद्यालय कानपुर कैंट ने केंद्रीय विद्यालय संगठन के इन चार उद्देश्यों को अपने में समाहित कर एक बड़ा ही प्रभावशाली कौशल विकसित किया है जहाँ पर 126 योग्य और प्रतिबद्ध अध्यापक/अध्यापिकाओं के द्वारा 2856 बच्चों के चतुर्दिक विकास पर ध्यान दिया जाता है। इसमें हमारे अध्यक्ष महोदय का बड़ा सक्रिय योगदान रहा है। National Curriculum Frame Work 2005 का मुख्य उद्देश्य बच्चों में जीवन का ज्ञान एवं उनकी व्यक्तिगत योग्यताओं को विकसित करना है। हम बच्चों में इन गुणों को समायोजित करने की भरसक कोशिश कर रहे हैं। 

 

Academics / शैक्षणिक प्रगति

आज के दौर में शिक्षा मनुष्य के चहुंमुखी विकास के लिए अति आवश्यक है। शिक्षा के बिना मनुष्य भौतिक साधन मात्र रह जाता है। हमारे बच्चों ने इस क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन किया है।

1-   कक्षा 1-9 तक का परीक्षा परिणाम 100% रहा है।

2-   कक्षा 10वीं का परीक्षा परिणाम 100% रहा है। 5 बच्चों ने 10 CGPA प्राप्त किया है। इन वच्चों को संगठन की तरफ से रु.5000/ परितोषिक के तौर पर भी दिया गया है।

3-  कक्षा बारहवीं का परीक्षा परिणाम 98.67% रहा है। गुणवत्ता परिणाम के अनुसार लखनऊ संभाग के सभी केंद्रीय विद्यालयों में हमारा तीसरा स्थान रहा है। मास्टर सिराज बुखारी ने बोर्ड परीक्षा (बारहवीं) में 97% मार्क्स अर्जित कर पूरे भारत में तीसरा स्थान प्राप्त किया ।

4-  मास्टर सिराज बुखारी और अंशु पाण्डेय, 2 विद्यार्थियों ने 100/100 मार्क्स इतिहास विषय में अर्जित कर एक नया रिकiर्ड कायम किया तथा सौम्या मिश्रा को इंग्लिश में मेरिट सर्टिफिकेट प्राप्त हुआ ।

5-  कुमारी दिव्या चौहान को भारत सरकार की तरफ से शिक्षा में अच्छे प्रदर्शन के लिए 50000/- का पुरस्कार प्राप्त हुआ ।

6-  JEE Mains-2016-17 में 10 विद्यार्थियों ने अपनी जगह बनाई।

7-  जाह्नवी तिवारी के प्रोजेक्ट का चयन नेशनल चिल्ड्रेन साइन्स कांग्रेस में राष्ट्रीय स्तर पर हुआ ।

8-  सामाजिक विज्ञान प्रदर्शिनी में विद्यालय के 50 चार्ट और मॉडल क्लस्टर स्तर पर चयनित हुये। समूह गान, स्किट, इंग्लिश डिबेट और मॉडल्स के एक्सप्लनेशन में क्लस्टर स्तर पर हमारे विद्यालय ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।

 

Scout/Guide

1-  स्काउट, मास्टर मनु गुप्ता सहित 2 और स्काउट मास्टर सदस्य राष्ट्रपति पुरस्कार से नवाजे गए।

2-  40 स्काउट्स और 15 गाइड्स ने तृतीय सोपान टेस्टिंग कैंप में भाग लिया।

 

Sports 

1-  विद्यालय में 46वीं सम्भागीय स्पोर्ट प्रतियोगिता U-14 BOYS और U-19 FOOTBAAL सफलतापूर्वक सम्पन्न हुई।

2-   विद्यालय में 46वीं राष्ट्रीय स्पोर्ट प्रतियोगिता U-14 TEAKWONDO सफलतापूर्वक सम्पन्न हुई।

3-  विद्यालय के 10 बच्चे विभिन्न राष्ट्रीय खेलों में चयनित हुए।

 

NCSC/राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस  

विद्यालय में 21वीं राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस का आयोजन बड़ी सफलतापूर्वक किया गया। हमारे विद्यालय का एक प्रोजेक्ट राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस हेतु चुना गया।

 

INNOVATIONS/नवाचार 

हमारे विद्यालय ने अध्ययन/अध्यापन को सुगम बनाने हेतु कई नई तकनीकों को अपनाया है। इसके लिए विद्यालय में एक हर्बल बागीचे का निर्माण किया गया है। बच्चों में मानव सेवा हेतु विद्यालय में एक स्काउट कार्नर की स्थापन की गयी है तथा केवी शाला 2016 का आयोजन विद्यालय में सम्भागीय स्तर पर सकुशल सम्पन्न हुआ।

 

 

मास्टर ऑन ड्यूटी

      विद्यालय हर प्रकार की सुरक्षा के लिए एवं आकस्मिक दुरघटनाऔं से वचाव के लिए प्रतिदिन क्रमशः एक अध्यापक एम. ओ. डी. नियुक्त करता है।

पेशावर में आतंकी घटना के बाद विद्यालय में अध्यापकों की एक टीम बनाई गई है जिसे एस. ओ. पी. टीम के नामा जाना जाता है। यह टीम आपातकालीन परिस्थितियों में विद्यार्थियों को सुरक्षा प्रदान करने का काम करती है। 

 

पुस्तकालय

जैसा कि सबको विदित है पुस्तकालय ज्ञान का खजाना होता है। हमारे विद्यालय में लगभग 20000 पुस्तकें सभी विषयों को मिलाकर हैं। इसके अलावा  30 पत्र-पत्रिकाएँ हैं जिनका अध्ययन विद्यार्थियों को उनके चहुंमुखी विकास में लाभ पहुंचाता है।

 

► GUIDANCE & COUNSELING

विद्यालय में एक काउन्सलर नियुक्त है जो प्रत्येक विद्यार्थी को विद्यालय के वातावरण से तालमेल बैठाने में मदद करता है।

 

► CELEBRATIONS

विद्यार्थियों में मानवता, विश्वबंधुत्व एवं धर्मनिरपेक्षता की भावना को विकसित करने के लिए गणतन्त्र दिवस, स्वतन्त्रता दिवस, टीचर्स डे, हिन्दी पखवाड़ा इत्यादि पर्व विद्यालय में मनाए गए।

 

► STUDENT COUNCIL

विद्यार्थियों में प्रशासनिक एवं प्रबंधकीय कौशल विकसित करने हेतु विद्यालय में स्टूडेंट्स काउंसिल की स्थापन की गई है जिसका नेतृत्व मास्टर ब्वायज कैप्टन तुषार एवं मिस निपूरणिका त्रिपाठी  गर्ल्स कैप्टन के हाथों में सौंपा गया है।

 

► STAFF ACHIEVEMENT

पिछले साल हमारे साथियों ने भी कई उपलब्धियाँ हासिल कीं।

1-  श्रीमती मीरा दुबे पीजीटी इक्नोमिक्स एवं श्री प्रमोद कुमार टीजीटी हिन्दी को लखनऊ संभाग की तरफ से इन्सेंटिव अवार्ड प्राप्त हुआ।

2-  श्री प्रमोद कुमार टीजीटी हिन्दी ने गाइडेंस ऐंड काउंसिलिंग अजमेर में पोस्ट गेजुएट डिप्लोमा प्राप्त किया।

3-  मानव संसाधन मंत्री श्रीमती समृति ज़ुबिन ईरानी की तरफ से विद्यालय के 15 अध्यापक एवं अध्यापिकाओं को बेहतर परीक्षा परिणाम देने के लिए प्रसस्ती पत्र प्राप्त हुआ।

 

► ADOLESCENT EDUCATION 

चूँकि यह समय की माँग है कि विद्यार्थियों को किशोरवय की शिक्षा से अवगत कराया जाए इसलिए अखिल भारतीय कार्यक्रम A. E. P. के द्वारा विद्यार्थियों को यह शिक्षा दी जा रही है।

     

मुझे पूर्ण विश्वास है कि हम इस क्षेत्र में अवश्य सफलता प्राप्त करेंगे कि  बच्चों का सर्वांगीण विकास हो, वे योग्य नागरिक बने, और जब वे सामाजिक जीवन में प्रवेश करें तो अपने को सामाजिक एवं राष्ट्रीय स्तर पर प्रमाणित कर सकें। वे यह सिद्ध कर सकें कि  समाज और राष्ट्र के लिए वे सबसे महत्त्वपूर्ण हैं।    

      अंत में मैं महान अब्राहम लिंकन के एक उद्धरण से अपनी बात समाप्त करना चाहता हूँ जो की बच्चों के नैतिक विकास से सम्बद्ध है- 

Teach him to sell his brawn & brain to the highest bidder but never put a price tag on his heart & soul.”

अर्थात मेरे बच्चे को ऐसी शिक्षा दो कि वह अपनी बुद्धि और ताकत को सबसे ऊँची बोली लगाने वाले को बेच सके, लेकिन उसे यह भी सिखाओ कि वह अपनी आत्मा और हृदय को किसी भी कीमत पर न बेचे।

जय हिन्द-जय भारत